पकलू के गोठ-1: पकलू पछत हे टेनिस कोर्ट ले मुख्यमंत्री ह छक्का कइसे मारही?

रायपुर। टेनिस कोर्ट म हाथ म रैकेट लिए मुख्यमंत्री जी ह जोरहा एक शॉट मारथे. थोरकुन देरी बाद मीडिया के तिर म आथे. पत्रकारमन सरकार बनही के नहीं कइके सवाल करथे. सवाल के जवाब में डॉ. साहब कहिथे, मैं तो खिलाड़ी हरव आखिरी बॉल म छक्का मारके के जीतना पंसद हे. मुख्यमंत्री के अइसनहा कहे के बाद ले मोर मितान पकलू बड़ परसान हे. पूछत हे के टेनिस कोर्ट ले डॉ. साहब छक्का कइसे मारही? इहां तो मैच एक सेट, दू सेट म जीते जाथे. मैं कहेव पकलू बात तो तय सही कहत हस. येखर पहली के पकलू ल कुछू समझा पातेव सवाल के झड़ी लगात हुए कहिथे कि सिंह साहब तो तीने बार अभी तक जीते हे उहू ह हैट्रिक के संग. फेर छक्का मारके काबर जीतना चाहत हे? उंहला तो चौथा बार चौका लगाना चाही.

पकलू भी बड़ मजेदार आदमी हरय. मितान के सवाल म कोनो खास बात तो नइहे फेर सवाल मन बड़ गजब के हे. पकलू के सवाल के जवाब कइसे दिए जाए अब येला लेके मै परसान होगेव. काबर कि बात तो पकलू के सही हे. अउ फेर चुनई के दौरान पूरा सरकार इही कहत रहिस के जीत के चौका लगाबों कहत रहिस. फेर अब सिंह साहेब ह छक्का मारके जीते के बात करते हे. वइसे डॉ. साहब ये बात ल किरकेट मइदान ले कहिथे थोड़ा फीट अउ ठीक लागतिस टेनिस कोर्ट ले नहीं. अब का करबे बड़े लोगन के बड़े बात.

फेर इही बीच पकलू ह सीएम साहब के बयान ले एक अउ सवाल लेके उठ खड़े होथे. पूछते कि का डॉ. साहब भी अब मान लिस के 65 प्लस के लक्ष्य सिरिफ हवा-हवाई ही रहिस. वोमा कोनो दम नइ रहिस. दम होतिस त छक्का मारके जीते के बात कोनो काबर करतिस. लागथे मुख्यमंत्री जी भी ये जान चुके हे मैच ह फंस चुके हे. इहां मुकाबला एक-एक गेंद म हे. एक-एक नहीं बल्कि जीत-हार आखिरी गेंद म हे. तभे उन कहत के छक्का मारे ल परही. वइसे पकलू के सवाल के अनदेखी नइ करे जा सकय. येखरे सेति मितान के सवाल अउ सीएम के बयान ल लेके भारी बहस सुरू होगे हे. फेर बहस के कोनो अंत नइ दिखत हे. येखरे सेति अब 11 दिसंबर के अगोरा करे ल परही. किरकेट न सही टेनिस कोर्ट ले सही का सीएम साहब छक्का मारकर के जीतही?

Related posts

Leave a Comment